Connect with us

सभी सचिव झांकियों की रूपरेखा बनाने से लेकर उसके प्रदर्शन तक की करें मॉनिटरिंग

खबर सीधे आप तक

सभी सचिव झांकियों की रूपरेखा बनाने से लेकर उसके प्रदर्शन तक की करें मॉनिटरिंग

रांचीः मुख्य सचिव डॉ. डीके तिवारी ने गणतंत्र दिवस 2020 पर प्रदर्शित होनेवाली राज्य से जुड़ी झांकियों को लीक से हटकर बनाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि परंपरागत ढंग से झांकियों के प्रदर्शन की परिपाटी से अलग हटकर इस बार कुछ नया करें। झांकियां अनोखी हों तथा उसमें राज्य की सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, पारंपरिक तथा भाषायी झलक की विशिष्टता दिखाई पड़े। मुख्य सचिव ने उक्त बातें झारखंड मंत्रालय में गणतंत्र दिवस की तैयारियों को लेकर विभिन्न विभागों के सचिवों और अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में कहीं।

मुख्य मकसद आम आवाम की सुरुचिपूर्ण भागीदारी है

मुख्य सचिव ने कहा कि गणतंत्र दिवस के आयोजन का मूल मकसद आम आवाम की उसमें सुरुचिपूर्ण भागीदारी सुनिश्चित करना है। इसलिए जरूरी है कि परेड से लेकर सांस्कृतिक कार्यक्रमों और झांकियों में राज्य की जीवन्त तस्वीर झलके। उन्होंने विभिन्न विभागों से इसी लाइन पर तैयारी करने का निर्देश दिया। वहीं उन्होंने तमाम विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी इस बड़े आयोजन में बढ़-चढ़कर भाग लेने पर बल दिया। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर आड्रे हाउस में सांस्कृतिक कार्यक्रम पर सहमति देते हुए उन्होंने कला एवं संस्कृति विभाग को उसमें राज्य के अच्छे कलाकारों की सहभागिता सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही निर्देश दिया कि आयोजन ऐसा हो कि आम लोग उसका आनन्द उठा सकें।

विभागों की झांकियों में झलकेगा उनका काम

गणतंत्र दिवस परेड में विभिन्न विभाग अपने अच्छे कामों को झांकियों के माध्यम से प्रदर्शित करेंगे। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग आदिम जनजातियों को दी गई पेयजल सुविधा पर आधारित झांकी पेश करेगा। ग्रामीण विकास विभाग जोहार योजना को प्रदर्शित करेगा। ऊर्जा विभाग सौर ऊर्जा से संचालित पंप से सिंचाई करते किसानों को दिखाएगा। स्कूली शिक्षा विभाग डिजिटल लर्निंग पर, तो कृषि विभाग पशुपालन, मछली पालन आदि पर समेकित झांकी प्रदर्शित करेगा। खेल-कूद विभाग की आर्चरी पर आधारित जीवंत झांकी की योजना है। उद्योग विभाग बांस मिशन से जुड़ी झांकी पर काम करेगा। मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि झांकी में बांस के विभिन्न उत्पादों के साथ ग्रामीण अर्थव्यवस्था में आए बदलाव आदि का भी समायोजन करें। उन्होंने कहा कि इससे बांस मिशन के तहत बांस के दरवाजे-खिड़कियां, फर्नीचर से लेकर सजावटी और घरेलू जरूरत के सामान के उत्पादन की जानकारी आम लोगों को मिलेगी। उन्हें पता चलेगा कि बांस निर्मित सामान कितने उपयोगी, टिकाऊ तथा कम लागत वाले हैं। इसी तरह अन्य विभागों ने भी अपनी झांकियों की रूपरेखा बैठक में बताई।

म्यूजिकल बैंड के साथ निकलेगी प्रभातफेरी

गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजधानी रांची और उप राजधानी दुमका में निकलनेवाली प्रभातफेरी के साथ इस बार मुख्य सचिव के निर्देश पर म्यूजिकल बैंड पार्टी की दो से तीन टीमें भी शामिल रहेंगी। मुख्य सचिव ने इस अवसर पर महत्वपूर्ण प्रतिमा स्थलों की साफ-सफाई और माल्यार्पण कार्यक्रमों को लेकर आयुक्तों को दिशा-निर्देश दिए। वहीं परेड कार्यक्रम को आकर्षक बनाने के लिए उसमें सेना व पुलिस के जवानों द्वारा बाइक आदि से किए जानेवाले विभिन्न करतबों को शामिल करने पर बल दिया। इसके अलावा समारोह स्थलों पर पेयजल, शौचालय, स्वास्थ्य सुविधा, ट्रैफिक, पार्किंग व्यवस्था सहित गणमान्य लोगों के बैठने आदि को लेकर भी व्यापक निर्देश दिए गए।

बैठक में ये थे शामिल

मुख्य सचिव डॉ. डी के तिवारी की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, डीजीपी श्री कमल नयन चौबे, डीजी श्री पीआरके नायडू, प्रधान सचिव श्री एपी सिंह, प्रधान सचिव श्री अजय कुमार सिंह, सचिव श्री केके सोन, सचिव श्रीमती आराधना पटनायक, सचिव श्रीमती हिमानी पांडे, सचिव श्री अमिताभ कौशल, सचिव श्री सुनील कुमार, सचिव श्री अबू बकर सिद्दीख पी, सचिव श्री प्रवीण टोप्पो, सचिव श्री के रवि कुमार, सचिव श्री प्रशांत कुमार, एडीजी श्री अजय कुमार सिंह, सूचना एवं जनसंपर्क निदेशक श्री राम लखन प्रसाद गुप्ता समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top