Connect with us

संविधान बचाओ, देश बचाओ जुलूस एवं विरोध सभा प्रदर्शन

खबर सीधे आप तक

संविधान बचाओ, देश बचाओ जुलूस एवं विरोध सभा प्रदर्शन

महुआडांड़ : नागरिकता संशोधन कानून (सी.ए.ए) 2019 एवं संभावित एनआरसी को लेकर शनिवार को एसटी, एससी, ओबीसी, पिछड़ी मूलवासी एवं मोनेटरी संयुक्त मोर्चा महुआडांड़ के बैनर तले संविधान बचाओ, देश बचाओ जुलूस एवं विरोध सभा का आयोजन कर प्रदर्शन किया गया। सी.ए.ए कानून को वापस लेने की मांग को लेकर महुआडांड़ एसडीपीओ रतिभान सिंह के हाथों राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

वक्ताओं ने कहा.. सरकार यह काला कानून लाकर लोगों को असल मुद्दों से भटका रही है। लोग सड़कों पर हैं। …

संविधान बचाओ, देश बचाओ जुलूस में लगभग पांच हजार की संख्या में महिला,पुरुष एवं युवाओं ने हाथों में तख्ती एवं नारों के साथ सी.ए.ए और प्रस्तावित एनआरसी का विरोध किया। विरोध जुलुस कि शक्ल में शहीद चौक से निकलकर शास्त्री चौक, बिरसा चौक, रामपुर होते हुए अनुमंडल परिसर में जाकर सभा में तब्दील हो गई जहां वक्ताओं ने इन कानून पर अपने अपने विचार रखें। साथ ही भारी संख्या में विद्यार्थियों ने पुर्व में हुए विश्वविद्यालयों में विद्यार्थियों के साथ बर्बरता को लेकर केंद्र सरकार एवं देश के गृहमंत्री अमित शाह मुर्दाबाद के नारे लगायें। मंच का संचालन खाजिमउद्दिन खान, ने किया।

युवा नेता शशि पन्ना ने कहा सरकार यह काला कानून लाकर लोगों को असल मुद्दों से भटका रही है। लोग सड़कों पर हैं। भाजपा और रघुवर दास को झारखंड में हार का सामना करना पड़ा उसी तरह और रघुवर दास को छत्तीसगढ़ वापस भेज दिए आने वाले समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा को केन्द्र में हार का सामना करना पड़ेगा और दिल्ली से गुजरात वापस भेज देंगें।

जिला परिषद मनीना कुजूर ने कहा मैंने पिछले बार कहा था कि जब तक यह कानून वापस नहीं होगा हम फिर प्रदर्शन करेंगे आज पुरे देश में जो हो रहा है,पक्ष और विपक्ष यह नहीं होने चाहिये, यह कानून आपसी प्रेम और लगाव को मेल नहीं करता है। आज गरीब जनता को रोटी,कपड़ा, रोजगार और शिक्षा चाहिए पर लोग आज कहा जा रहे हैं। इससे यही प्रतिक होता है कि आप उलझे रहे इस जुलूस को सफल बनाने में *नुरूल अंसारी, सोनू अंसारी, असीम जफर, मजहर खान, विनोद उराॅव,अभय मिंज,अजित पाल कुजूर ,शशि पन्ना,जेवियर कुजूर सहित भारी संख्या में प्रखंड के जनता मौजूद रहे।।

जेवियर कुजूर ने कहा डीएनए के आधार पर एनआरसी हमें मंजूर है। पर कल जब एनआरसी होंगा तो कागज़ हम नहीं दिखाएंगे।

अजीत पाल कुजूर ने कहा देश के नागरिकों में नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर मौजूदा केन्द्र सरकार द्वारा भ्रम फैलाई गई है। कल आदिवासी कहां से जन्म प्रमाण पत्र लाएंगे.यह कानून वापस होने चाहिए।

शहजाद आलम ने कहा चुनाव की सभा में देश के प्रधानमंत्री कुछ और कहते हैं,और सदन में गृहमंत्री कुछ और कहते हैं। लोग रोजगार महंगाई पढ़ाई देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर सवाल खड़े करे इससे पहले लोगों को उलझा कर रख दिया जाए यही मंशा मौजूदा केन्द्र सरकार की है।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top