Connect with us

वर्चुअल रैली पर भड़के इरफान अंसारी , कहा कि जब पूरा देश कोरोना संक्रमण काल से गुजर रहा तो दूसरी तरफ भाजपा वाले राजनीतिक गतिविधियों में लगे हुए हैं…

खबर सीधे आप तक

वर्चुअल रैली पर भड़के इरफान अंसारी , कहा कि जब पूरा देश कोरोना संक्रमण काल से गुजर रहा तो दूसरी तरफ भाजपा वाले राजनीतिक गतिविधियों में लगे हुए हैं…

जामताड़ा : भाजपा द्वारा आयोजित वर्चुअल रैली पर जमकर भड़ास निकालते हुए कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष व जामताड़ा विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी ने कहा कि भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी जी को शर्म आनी चाहिए। ऐसे समय में जब पूरा देश कोरोना संक्रमण काल से उबर नहीं पाया है तो दूसरी तरफ भाजपा वाले राजनीतिक गतिविधियों में जुट गए हैं। खासकर झारखंड में जिस रफ्तार से कोरोना संक्रमितों की संख्या पूरी तेजी से बढ़ रही है और संक्रमण चरम पर है तो दूसरी तरफ भाजपा वाले नेतागिरी से बाज नहीं आ रहे।

केंद्र सरकार के गलत फैसलों के कारण आज पूरे देश में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। केंद्र सरकार सही समय पर सही निर्णय नहीं ले पाती है , जिसका खामियाजा पूरे देश की जनता को भुगतना पड़ रहा है। जनता का गुस्सा उबाल पर है। पूरे लॉक डाउन पीरियड में भाजपा के नेता बंद कमरे में थे और अब थोड़ी बहुत राहत मिली है तो जनता के सुख दुख में खड़ा होना चाहिए था ना की राजनीति करनी चाहिए। अब भाजपा के नेता वर्चुअल रैली कर जनता के बीच नौटंकी दिखा रहे हैं। भाजपा के नेता को चाहिए था कि ये लोग दिल्ली जाएं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से मिलकर झारखंड की वास्तविक वस्तुस्थिति को उनके समक्ष रखकर झारखंड को आर्थिक पैकेज दिलाएं। आज झारखंड को आर्थिक सहायता की जरूरत है ना की रैलियों की।

आगे विधायक ने बाबूलाल मरांडी की राजनीतिक शैलियों पर भी अंगुली उठाते हुए कहा की मैं बाबूलाल मरांडी जी का बहुत सम्मान करता हूं परंतु मैं इनकी राजनीति कभी नहीं समझ पाया। सिर्फ राजनीतिक स्वार्थ को पूरा करने के लिए इन्होंने पार्टी बदला और आज उसी कांग्रेस पार्टी के खिलाफ बोल रहे हैं जिसने उन्हें हर संभव मदद किया। सेकुलर की छवि दिखा कर जनता से वोट ठग लिया और जब पद लेने की बात आई तो भाजपा में भाग गए। यह कभी भी भरोसेमंद नहीं रहे। मैं इन्हें एक बड़ा सिद्धांतवादी नेता मानता था लेकिन यह तो बड़े ही स्वार्थी निकले। लेकिन मैं कहना चाहता हूं की आने वाले समय में इनका राजनीतिक पतन अवश्य होगा।

विधायक ने कहा कि मैं झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी से आग्रह करूंगा की वह भारतीय जनता पार्टी के सभी बड़े नेताओं को कड़ी सुरक्षा मुहैया कराएं क्योंकि जब जनता मुसीबत में थी भाजपा के नेता 3 महीने बंद कमरे में पिकनिक मना रहे थे। जनता किस हाल में है कभी सुध नहीं ली और अब जब जनता को आर्थिक सहायता की आवश्यकता है तो यह लोग वर्चुअल रैली निकाल रहे हैं । मुझे शंका है कि यदि यह लोग जनता के बीच जाएंगे तो कोई भी अप्रिय घटना घट सकती है और जनता का आक्रोश झेलना पड़ सकता है। जनता भाजपा की नीतियों से काफी गुस्से में है। झारखंड वासी भाजपा की नीतियों को भलीभांति समझ चुके हैं।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top