Connect with us

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वाहन पर दो दिवसीय राष्ट्रब्यापी हड़ताल का हुई समापन

खबर सीधे आप तक

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वाहन पर दो दिवसीय राष्ट्रब्यापी हड़ताल का हुई समापन

गिरिडीह से राजेश राज
गिरिडीह:- यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वाहन पर यू एफ बी यू गिरीडीह जिला इकाई द्वारा एक्सिस बैंक गिरीडीह परिसर में 31 जनवरी से 1 फरवरी तक आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रब्यापी बैंक हड़ताल का दूसरे दिन शनिवार को समापन हो गया। हड़ताल पर बैठे सभा की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष अशोक कुमार चौरसिया ने कहा कि 12 सूत्री मांगों क्रमशः सम्मानजनक वेतन समझौता शीघ्र लागू करने,पाँच दिवसीय बैंकिंग ,मूल वेतन के साथ विशेष भत्ता का विलय, नई पेंशन स्कीम का निरस्तीकरण, पुरानी पेंशन का अपडेशन, पारिवारिक पेंशन में वृद्धि,स्टाफ वेलफेयर फंड की ब्यवस्था, सेवानिवृत्त लाभ की सम्पूर्ण राशि आयकर मुक्त करने,बैंक की शाखाओं का ब्यवसायकाल,भोजनावकाश निर्धारित करने,अवकाश बैंक की शुरुआत करने,अधिकारियों का कार्यकाल अवधि का निर्धारण करने, दैनिक वेतनभोगी मजदूर और ब्यवसाय प्रतिनिधियो के लिए समान कार्य हेतु समान वेतन लागू करने को आदि मांगो को लेकर राष्ट्रब्यापि हड़ताल किया गया था।
वरिष्ठ संरक्षक मुकेश कुमार सिन्हा ने कहा की ज्ञात हो कि देश के सरकारी बैंकों में दस लाख से अधिक अधिकारी, कर्मचारी कार्यरत हैं जिनका 11वें वेतन समझौता नवंबर 2017 से लंबित है। यू एफ बी यू के साथ आई बी ए का दर्जनाधिक बैठकों के बावजूद आई बी ए के नकारात्मक रवैये के कारण वार्ता विफल हो चूकी है। पिछले सवा दो साल से पूरे देश के बैंक कर्मचारी संघर्ष के राह पर है मांगो की पूर्ति हेतु कई दौर के आंदोलन का असर सरकार पर नही पड़ा उपेक्षा,शोषनपुर्न नीति के कारण बैंक कर्मचारी बेहद ही आक्रोशित है। जिला संयोजक दिलीप कुमार ने मंच संचालन करते हुए कहा कि 2 दिवसीय हड़ताल के दौरान अगर 12 सूत्री मांगों पर अमल नहीं किया जाता है तो रणनीति के तहत 11से 13 मार्च तक व 1अप्रैल से बैंकों में अनिश्चित कालीन राष्ट्रब्यापी हड़ताल किया जाएगा।
यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन गिरीडीह जिला ईकाई के सह संयोजक अनुपम कुमार, उदय सिंह, देवराज आनंद,पंकज देव,जिला संयुक्त संयोजक पविकाय पवन ,मो वसीम अकरम अंसारी , मो तबरेज़ अंसारी बेंजामिन मुर्मू,अभिषेक वैद्य आदि ने भी अपनी अपनी विचार ब्यक्त किये। हड़ताल के दौरान बैंकों में ताले लटके रहे ,बैंकिंग कार्य पूरी तरह ठप्प रहा जिसके कारण लगभग 300 करोड़ का ब्यवसाय प्रभावित हुआ। कर्मचारियों ने सरकार की नीति के विरोध में नारेबाजी करते हुए धरना स्थल से विशाल रैली निकाली एवं अपनी लंबित मांगो की पूर्ति के लिए उपायुक्त कार्यालय में प्रधानमंत्री के नाम पाँच सदस्यीय शिष्टमंडल द्वारा ज्ञापन सौंपा गया। मौके पर शशांक सौरभ,अभिनाश सोनी,गौरव कुमार,भावना, विनोद कुमार वर्णवाल,अभिनव कुमार वर्मा,प्रमोद कुमार,अभिषेक सिन्हा, रामलला झा,राजेन्द्र शर्मा,पंकज कुमार देव,गौतम कुमार,राम विलास ,विजय सिंह, गंगू महतो,विनय टुडू,सत्यजीत सरकार, मनोज शर्मा ,शबनम प्रवीण, दिनेशचंद्र देव,बलवंत कुमार,मनमोहन भाई पटेल,आशीष सोरेन,सिकंदर,दीपक,सौरभ,मोनिका,शंकर,अनुपम सिन्हा, सुमन साव,कासिम अंसारी ,रीतलाल प्रसाद यादव,अब्दुल गनी, जमशेद अंसारी सहित जिलेभर के सभी बैंक के अधिकारी,कर्मचारी, बीसी संचालक आदि मौजूद थे।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top