Connect with us

मांडर विधायक बन्धु तिर्की ने कोल ब्लॉक नीलामी एवं महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर साधा निशाना…

खबर सीधे आप तक

मांडर विधायक बन्धु तिर्की ने कोल ब्लॉक नीलामी एवं महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर साधा निशाना…

राँची :

पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी एवं कॉल ब्लॉक की नीलामी के मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा राजभवन के समक्ष एक दिवसीय धरना को संबोधित करते हुए मांडर विधायक बंधु तिर्की ने कहा कि कोल ब्लॉक की नीलामी के मामले में बगैर राज्य सरकार की सहमति के केंद्र सरकार एकतरफा निर्णय नहीं ले सकती है। यह संवैधानिक रूप से विपरीत एवं संघीय ढांचा की अवहेलना है। आज राज्य में आदिवासी मूलवासी की सरकार है। केंद्र सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राज्य के कोयले का 45 हजार करोड़ रूपया बकाया का भुगतान नहीं किया गया। सी सी एल, बीसीसीएल समेत कोयला की अधिकांश बड़ी कंपनियां कांग्रेस पार्टी की देन है। अब केंद्र सरकार इनका निजीकरण करना चाह रही है। जिससे वहां कार्यरत आदिवासी , मूलवासी कर्मचारियों और मजदूरों को बेरोजगारी का दंश झेलना पड़ेगा। लेबर लॉ, मजदूर यूनियनों और अन्य समूहों की साजिश के तहत उनका अधिकार समाप्त करने की तैयारी चल रही है।

झारखंड प्रदेश सदियों से विस्थापन की मार झेल रही है। आदिवासी विलुप्त होते जा रहे हैं। लाखों विस्थापितों को मुआवजा आज तक नहीं मिल पाया है। वैसे में नए कोल ब्लॉक की नीलामी से 60,000 परिवार विस्थापित होंगे जो गरीब आदिवासी मूलवासी होंगे , जो भारी चिंता का विषय है। हम केंद्र सरकार को मनमानी नहीं करने देंगे एवं कोयले के नाम पर एक ढेला भी उठाने नहीं देंगे।

उन्होंने ने कहा कि केंद्र सरकार आर्थिक रूप से भी बुरी तरह विफल हो गई है। पेट्रोल , डीजल , रसोई गैस का दाम आसमान छू रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में लगातार गिरावट हो रही है , वही देश में पेट्रोल ,डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे है। डीजल की कीमत आजादी के बाद पहली बार पेट्रोल से अधिक हो गया है। आज देश में पेट्रोल , डीजल अस्सी नब्बे रूपए प्रति लीटर है जो हमारे सभी पड़ोसी देशों के दामों से अधिक है। यह हमारी सरकार का निकम्मे पन को दर्शाता है। डीजल के दाम बढ़ने से माल ढुलाई महंगी होने से उपभोग की वस्तुएं महंगी हो गई है और पटवन में किसानों को परेशानी हो रही है साथ ही उज्वला योजना की ढोल पीटने वाली सरकार रसोई गैस के दाम में लगातार वृद्धि कर रही है। जिससे आम जनता की पहुंच से दूर हो गई है।

कोविड-19 में लॉकडाउन में लोगों की आर्थिक हालात पहले ही चौपट हो गई है राशन उपभोक्ता सामान साग सब्जी का दाम आसमान छू रहा है और केंद्र सरकार राज्यों में चुनाव कराने में इलेक्शन मोड में आ गई है। उसे प्रवासी मजदूरों , किसानों एवं आम जनों से कोई सरोकार नहीं रह गया है। बस हॉर्स ट्रेडिंग और केन प्रकारेण इलेक्शन जितना मकसद रह गया है।

इस अवसर पर कांग्रेस अध्यक्ष एवं मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव पूर्व मंत्री सुबोध कांत सहाय, मंत्री बन्ना गुप्ता, विधायक अंबा प्रसाद मुख्य रूप से उपस्थित थे। इनके अलावा कांग्रेस के कई नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे|

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top