Connect with us

बिटिया रानी ऑफिसर बनने चली, विलुप्त होती जनजाति समाज सें है चंचला

खबर सीधे आप तक

बिटिया रानी ऑफिसर बनने चली, विलुप्त होती जनजाति समाज सें है चंचला

रांची:- झारखंड में JPSC सिविल सेवा परीक्षा का परिणाम कई दिन पहले जारी हुआ। 325 अभ्यर्थी सफल हुए। सबों की अपनी-अपनी सफलता की कहानी है। लेकिन इन्ही सफल अभ्यर्थी में एक अभ्यर्थी ऐसी भी है जिसकी सफलता की कहानी औरों से जुदा है। क्योंकि विलुप्ति के कगार पर खड़ी कोरवा आदिम जनजाति से आने वाली चंचला कुमारी ने JPSC की परीक्षा में सफलता हासिल की है। चंचला कुमारी कोरवा आदिम जनजाति की पहली ऐसी लड़की होंगी जो प्रशासनिक अधिकारी बनेगी। इसलिए चंचला के इस सफलता की चर्चा हर कोई कर रहा है।झारखंड में आदिम जनजाति कोरबा की पहली बेटी प्रशासनिक अधिकारी बनेगी। गढ़वा की रहने वाली चंचला कुमारी का JPSC की सिविल परीक्षा में चयन हुआ है। चंचला फिलहाल रांची में ही वायरलेस में एसआई के पद पर पदस्थापित हैं। 2018 में उनका चयन वायरलेस में हुआ था। चंचला बचपन से ही पढ़ाई में होनहार थी। 2009 में वे नवोदय विद्यालय की टॉपर रही हैं। उसके बाद BIT मेसरा से पॉलीटेक्निक डिप्लोमा किया। उसके बाद BIT सिंदरी से बीटेक।
चंचला कहती हैं बीटेक करने के दौरान ही उनके मन में सिविल सेवा की तैयारी करने का ख्याल आया। इसलिए बीटेक करने के बाद किसी कंपनी में नौकरी करने के बजाय सिविल सेवा की तैयारी में लग गई। इधर JPSC का परीक्षा टलता रहा तो वायरलेस की परीक्षा दी उसमें सफल हो गई और नौकरी जॉइन कर ली।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top