Connect with us

नक्सलियों की कमर तोड़ने में जुटी झारखंड पुलिस

खबर सीधे आप तक

नक्सलियों की कमर तोड़ने में जुटी झारखंड पुलिस

रांची. नक्सलियों (Naxals) पर नकेल कसने को लेकर नये साल का पहला महीना यानी जनवरी झारखंड पुलिस (Jharkhand Poilce) के लिए बेहद कामयाब रहा. झारखंड पुलिस ने इस दौरान अपनी रणनीति के दम पर 39 नक्सलियों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया. जबकि पुलिस के दबाव में आकर चार बड़े नक्सलियों ने सरेंडर (Surrender) कर दिया. इनमें एक पांच लाख का इनामी भी शामिल है.
लातेहार जिले में सबसे ज्यादा सफलता
गिरफ्तार 39 नक्सलियों में एक जोनल और चार सबजोनल कमांडर हैं. पुलिस मुख्यालय के मुताबिक नक्सलियों के खिलाफ सबसे ज्यादा सफलता लातेहार जिले में मिली. लातेहार में एंटी नक्सल अभियान के दौरान पुलिस से पूर्व में लूटे गए तीन हथियार बरामद कर लिये गये. साथ 17 देसी हथियार और 622 कारतूस भी जब्त किये गये. पुलिस ने पांच लाख रुपये लेवी की राशि को भी बरामद किया. एक महीने में कुल 116.5 किलोग्राम विस्फोटक जब्त किये गये.
झारखंड पुलिस के प्रवक्ता एडीजी एमएल मीणा का कहना है कि जनवरी में पुलिस को नक्सलियों के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है. लेकिन इससे ज्यादा उत्साहित होने की जरूरत नहीं है, बल्कि और ज्यादा सतर्क होकर कार्रवाई करने की जरूरत है. क्योंकि हताशा में नक्सली बड़ी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं.

जनवरी महीने में नक्सलियों के खिलाफ सफलता

पुलिस ने लोहरदगा में नक्सली कैंप को ध्वस्त किया
राज्यभर में चले अभियान के दौरान चार आईइडी, 11 डेटोनेटर बरामद किये.

पलामू में 13 नक्सलियों की गिरफ्तारी हुई

नक्सलियों से लेवी के रूप में लिये गये 5.30 लाख रूपये जब्त किये गये.

रांची में पांच लाख के इनामी कुख्यात नक्सली गोपाल गंझू ने सरेंडर किया.

24 जनवरी को दुमका में भी नक्सलियों ने सरेंडर किया.
शीर्ष नेतृत्व में अहम बदलाव करने में जुटे नक्सली
जानकारी के मुताबिक झारखंड पुलिस की बढ़ती दबिश को देखते हुए अब नक्सली भी नई रणनीति बनाने में जुट गये हैं. संगठन के शीर्ष नेतृत्व में कुछ अहम बदलाव किया जा रहा है. हालांकि इस बात की भनक पुलिस को लग गई है. इसलिए पुलिस भी इसके मद्देनजर अपनी रणनीति में बदलाव करने में जुटी है.
एडीजी ने बताया कि नक्सलियों के खिलाफ रणनीति में परिवर्तन करते हुए सीआरपीएफ के साथ मिलकर नये सिरे से एंटी नक्सल ऑपरेशन राज्य में चलाया जाएगा. साथ ही इस अभियान में झारखंड पुलिस के कुछ नए प्लाटून्स को उतारा जा सकता है.
आंकड़ों के मुताबिक जनवरी में राज्यभर में नक्सलियों ने करीब दो दर्जन घटनाओं को अंजाम दिया. हालांकि इसमें कोई बड़ी घटना शामिल नहीं है. हां, कई जगहों पर विकासकार्यों को प्रभावित करने के लिए नक्सलियों ने आगजनी की.

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top