Connect with us

झारखंड का खजाना खाली कर गए रघुवर

खबर सीधे आप तक

झारखंड का खजाना खाली कर गए रघुवर

Johar Times के हवाले से खबर चौकाने वाली है राज्य सरकार का खजाना खाली, वेतन देने तक के पैसे नहीं, उधारी में चल रहा है काम :

रघुवर राज का पाप बीजेपी का पीछा छोड़ने का नाम नहीं ले रहा है। जाते जाते भी रघुवर दास राज्य का खजाना साफ़ कर गए। राज्य में ट्रेजरी की स्थिति चौकाने वाली है। सरकार का खजाना खाली है। वेतन देने तक के पैसे नहीं हैं। उधारी में काम चल रहा है। इससे समय-समय पर ओवर ड्राफ्ट हो जाता है। लोन लेकर ओवर ड्राफ्ट का कम किया जाता है। 19 दिसंबर को राज्य के खजाने में सिर्फ 65 करोड़ रुपए थे। केंद्र सरकार से 1800 करोड़ रुपए का लोन लेकर खजाने में 1925 करोड़ रुपए जुटाए गए हैं। इन पैसे से वेतन और पेंशन देने की कोशिश की जायेगी । ट्रेजरी में भी करोड़ो के बिल पास नहीं हो रहे हैं। नई सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती खजाने को पटरी पर लाना होगा।

राज्य बनने के प्रारंभिक चार सालो तक सरप्लस बजट के कारण झारखंड की खास पहचान थी। लेकिन पिछले डेढ़ साल से वित्तीय स्थिति गड़बड़ा हो गयी है, महीने के 20 तारीख के बाद वित्त विभाग का पूरा महकमा सभी जरूरी भुगतान रोककर खजाने में पैसे जमा करने में जुट जाता है, ताकि कर्मचारियो को वेतन का भुगतान किया जा सके। सरकार ने ट्रेजरी से निकासी पर भी परोक्ष रूप से रोक लगा रखी है। ट्रेजरी अफसरो को निर्देश है कि वित्त विभाग के अफसरो की अनुमति के बगैर बड़े भुगतान की मंजूरी न दे।

ऐसी स्थिति इसलिए :

अनुमान के अनुरूप राजस्व की प्राप्ति नहीं हो रही है। सरकार आंतरिक संसाधन को भी नहीं बढ़ा पा रही है। महिलाओं को एक रुपए के टोकन मनी पर जमीन रजिस्ट्री का लाभ, शराब बिक्री की व्यवस्था बदलने और  जीएसटी लागू होने से भी वसूली प्रभावित हुई है। खनन लीज की बंदोबस्ती न होने से भी स्थिति गड़बड़ाई है। चालू वित्तीय वर्ष के लिए 85 हजार करोड़ के बजट में राज्य को 72 हजार करोड़ अपने प्रयास से जुटाना था। केंद्र से 13 हजार करोड़ रुपए ही मिलने हैं। लेकिन सरकार 35 हजार करोड़ ही जुटा पाई है।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

To Top