Connect with us

जल ‘जमाव” समस्या से निजात दिलाने आदि मांगों को लेकर माकपा ने जलजमाव मे किया जल ‘सत्याग्रह’

खबर सीधे आप तक

जल ‘जमाव” समस्या से निजात दिलाने आदि मांगों को लेकर माकपा ने जलजमाव मे किया जल ‘सत्याग्रह’

बी.डी.ओ के पदनाम ज्ञापन प्रधान सहायक को सत्याग्रह स्थल पर सौंपकर की समाधान की मांग।

चंदवा:-

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) ने
प्रखंड कार्यालय और मुख्य शहर से सटे रिहाईशी इलाके की गायत्री मंदिर पथ पर जलजमाव समस्या से निजात दिलाने आदि मांगों को लेकर जलजमाव मे जलसत्याग्रह किया।

इसमें शामिल वक्ताओं ने कहा है कि जलजमाव की समस्या कई वर्षो से यहां गंभीर बनी हुई है।

इसके निदान के लिये अबतक कुछ नहीं किया जा रहा है, जल निकासी नहीं होने से यह स्थिति बनी हुई है, प्रत्येक वर्ष जलजमाव से परेशान रहते हैं लोग।

एरिया की ग्रामीण, प्रखंड में ऐसा जल जमाव कहीं नहीं है, इस फजीहत को वर्षो से लोग झेल रहे हैं, इस रास्ते पर गायत्री मंदिर और प्रज्ञा केंद्र है, बरसात के कारण सड़कों पर भरा पानी लोगों के लिए आफत का सबब बन गया है।

प्रज्ञा केंद्र में प्रतिदिन वृद्धा पेंशनधारी छात्र-छात्राओं को गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ रहा है।

जलजमाव से मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं को भी भारी परेशानी उठानी पड़ रही है।

पानी बाहर नहीं निकलने से सड़क तलाब में तब्दील हो गया है, पांच से छः फीट पानी भरा पड़ा है।

लंबे समय तक पानी जमा रहने के कारण सड़क में गड्ढे भी उभर आए हैं व इस कोरोना काल मे काफी दिनों से जलजमाव के कारण कई बीमारियां भी उतपन्न हो रही है।

घर से लोग स्नान कर निकलते हैं लेकिन रास्ते में उन्हें गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है, इससे श्रद्धालुओं की पवित्रता भंग हो रही है, इन दिनों तो स्थिति और भी खराब हो गई है, जलजमाव के साथ-साथ इस रास्ते पर कीचड़ भी उत्पन्न हो गया है, इससे खरीदारी करने बाजार आने वाले आम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

नाले का गंदा पानी जमाव होने से बदबू आ रही है, इससे महामारी फैलने की आशंका उत्पन्न हो गई है।

बरसात की शुरूआती दौर आते ही जलजमाव के बारे में सोचकर इलाके कि लोगों का मन कांपने लगता है, ऐसे तो सालों भर यहां की यही स्थिति है, लेकिन बरसात में तो यह रास्ता नरक बन जाता है. जलजमाव से यह रिहाईशी ईलाका मुख्य मार्ग से कट गया है, गैरेज लैन में जहां तहां जलजमाव है, इससे मच्छर का प्रकोप बढ़ गया है।

एन.एच 99 अब 22 तथा 75 एवं कामता – सेरक पथ में कई जगहों पर बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं, इसमें आए दिन दो पहिया वाहन चालक दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं.

कई लोग सड़क के गड्ढे में गिरकर गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं, इन गड्ढों को तत्काल नहीं भरा गया तो किसी दिन बड़ी सड़क हादसा हो सकता है,

जल सत्याग्रह स्थल पर अंचल के प्रधान सहायक राम नरेश राम, अंचल कर्मी अशोक कुमार पहुंचे जहां आंदोलनकारियों ने प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार के नाम ज्ञापन उन्हें सौंपा, ज्ञापन मे चंदवा के गायत्री मंदिर पथ पर जलजमाव की समस्या तत्काल दूर किया जाय.
जलजमाव की निकासी के लिए नाली का निर्माण अविलंब कराया जाय, एनएच 99 अब 22 तथा 75 पथ मे बने गड्ढे को अविलंब दूरूस्त किया जाय।

कामता – सेरक पथ में बने गड्ढे की भराई एवं कामता पतराटोली में सड़क मरम्मत किया जाय मांग शामिल हैं, जल सत्याग्रह में पूर्व जिला सचिव सह चतरा लोकसभा प्रत्याशी अयुब खान, अंचल सचिव रसीद मियां, ललन राम, जितु सिंह, साजीद खान, मुन्ना गंझु, पचु गंझु, बाबुलाल गंझु, कमल गंझु व अन्य शामिल थे।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top