Connect with us

कोरोना काल मे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही.. की खुलीं पोल

खबर सीधे आप तक

कोरोना काल मे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही.. की खुलीं पोल

स्वास्थ्य विभाग: की लापरवाही, युवक की जिंदगी पर भारी

सैंपलिंग हुआ नहीं पॉजीटिव कर भेज दिया कोविड केयर सेंटर।

पत्नी की मौत के सदमे से अभी उबरा भी नहीं था कि सिस्टम ने परेशान कर रख दिया

चंदवा:-

कामता पंचायत के ग्राम कामता में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण एक युवक को भारी पड़ गया, वह अभी पत्नी की मौत से उबरा भी नहीं था कि उसे बिना सैंपल जांच के ही पॉजीटिव कर कोविड19 केयर सेंटर भेज दिया. इससे परिवार के सदस्य काफी परेशान हैं.

मामला दिनांक 6 अगस्त 2020 का है, इस दिन स्वास्थ्य विभाग द्वारा कामता पंचायत सचिवालय में कोविड19 की सैंपलिंग के लिए कैंप लगाया गया था. कामता तुरी टोला निवासी जयश्री तुरी कैंप में नाम लिखाकर पर्ची बनवाकर अपने पत्नी पार्वती देवी का दसवां का कार्यक्रम करने अपने घर चला आया. इसके बाद जयश्री तुरी घर से निकला ही नहीं, सैंपल भी नहीं दिया और 13 अगस्त को इसका रिपोर्ट पॉजीटिव आ गया. इस दिन स्वास्थ्य विभाग की एम्बुलेंस आया बैठाकर ले गया

पुत्रवधु रीता देवी ने बताया कि मेरे ससुर जयश्री तुरी सेंपल नहीं दिए हैं. यह बात मेरे ससुर ने भी घर में सभी को बताया था. एम्बुलेंस मे आए लोगों से भी मेरे ससुर ने कहा था कि हम सेंपल नहीं दिए हैं तो फिर पॉजीटिव कैसे हो गए लेकिन मेरी एक भी बात नहीं सुनी गई.और एम्बुलेंस में जबरण बैठाकर मेरे श्वसुर को ले गए. उनका अभी तक कोई पता नहीं है. नाहीं कोई फोन से संपर्क है

पुत्र बादल तुरी ने बताया कि मेरे पिता सेंपल नहीं दिए हैं. जांच करा लिजिए सबकुछ साफ हो जाएगा. मेरी मॉ की देहांत के बाद हम सपरिवार ऐसे ही उसके रीती – रिवाजों में परेशान हैं. सेंपल नहीं दिए हैं यह बात सहिया और गांव के लोग भी जानते हैं

सहिया तबश्शुम बीवी कहती हैं कि स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर मैं पुरे गांव में घुमघुम कर जांच कराने के लिए कहा था. जयश्री तुरी भी कैंप में आकर नाम लिखाया था पर्ची कटाकर वह अपने घर चले गए पत्नी का दसवां करने. इसके बाद वह कैंप में आया नहीं. मैं कैंप में ही था वह सेंपल नहीं दिया है. गांव वाले भी कहते हैं कि इन्होंने सेंपल नहीं दिया है
अब सवाल यह है कि किसके सेंपल पर उन्हें पॉजीटिव किया गया है. बिना सेंपल जांच वाले युवक को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोरोना वॉर्ड में भर्ती करा दिया
जिसका सेंपल है वह गांव में खुला घुम रहा है. इससे गांव में संक्रमण की खतरा और बढ़ गया है, स्वास्थ्य विभाग की चुक ने इस गरीब परिवार को परेशान कर रख दिया है इस मामले की चर्चा ईलाके में जोरों पर है

सुचना पर माकपा के पूर्व जिला सचिव अयुब खान, पूर्व पंचायत समिति सदस्य फहमीदा बीवी ने गांव जाकर मामले की तहकीकात की, परिजनों, ग्रामीणों और स्वास्थ्य सहिया से मुलाकात कर इस संबंध में वस्तु स्थिति से अवगत हुए, कहा कि पूछताछ में यह साफ हो गया कि इन्होंने सेंपल नहीं दिया है, मेडिकल टीम ने इस गरीब परिवार के साथ अन्याय किया गया है, इसकी जांच कराने की मांग उपायुक्त जिशान कमर, सीएस सिविल सर्जन, प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार, अंचलाधिकारी मुमताज अंसारी, है।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top