Connect with us

उपायुक्त राँची की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु गठित टास्क फोर्स के वरीय एवं नोडल पदाधिकारियों द्वारा क्रियान्वित कार्यों की विस्तार से की गई समीक्षा…

खबर सीधे आप तक

उपायुक्त राँची की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु गठित टास्क फोर्स के वरीय एवं नोडल पदाधिकारियों द्वारा क्रियान्वित कार्यों की विस्तार से की गई समीक्षा…

राँची : उपायुक्त राँची राय महिमापत रे की अध्यक्षता में मोरहाबादी स्थित आर्यभट्ट सभागार में जिलास्तरीय पदाधिकारियों, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी की बैठक आयोजित की गई। कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु गठित टास्क फोर्स के वरीय एवं नोडल पदाधिकारियों द्वारा क्रियान्वित कार्यों की विस्तार से समीक्षा की गई।

बैठक में सभी टास्क फोर्स के समन्वय स्थापित करने एवं माइग्रेंट लेबर मूवमेंट के बारे में आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया। जो प्रवासी रांची से आगे जाना चाहता हैं तो उन्हें गंतव्य तक भेजने की व्यवस्था देना है। जो पैदल चल रहा है उसे नजदीकी किसी स्थान पर उनको रहने की जगह दी जाएगी फिर समन्वय स्थापित कर सम्बंधित गंतव्य स्थान पर भेज देना है।

जो लोग राँची पहुंच रहे हैं, उनका किस ज़ोन से आगमन हो रहा है इस आधार पर क्वारंटाइन में रखने का निदेश दिया गया। रेड ज़ोन से राँची आनेवाले लोगों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में रखा जाएगा। क्वारंटाइन में 14 दिनों तक रखना है फिर टेस्ट के बाद अगर नेगेटिव रहता है तब उन्हें छोड़ दिया जाएगा।ऑरेंज और ग्रीन ज़ोन से आनेवाले लोगों को होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा।

बैठक में सभी को प्रवासी मजदूरों के लिए तत्पर हेल्पलाइन बनाई गई है जो पैदल यात्रा कर रहे मजदूरों या लोगों को इंटरसेप्ट करेगी और उन्हें संबंधित बीडीओ/सीओ को जानकारी उपलब्ध कर देंगे। जिनका काम उनके लिए रहने की व्यवस्था करना है। प्रवासी मजदूरों के खान-पान की व्यवस्था दूसरे राज्य या जिला में मजदूरों को भेजने हेतु नोडल पदाधिकारी प्रेम तिवारी से सम्पर्क करने का निदेश दिया गया है।

कन्टेनमेंट ज़ोन में रहनेवाले लोगों को आवश्यकतानुसार इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में या होम क्वारंटाइन रखा जाएगा। बफर जोन में रहनेवाले लोगों में अगर सिम्पटम्स दिखता है तो उन लोगों का स्वाबिंग करने के उपरांत अगर सभी का नेगेटिव रिपोर्ट आता है तो इंसिडेंट कमांडर उस ज़ोन के सम्बंध में निर्णय लेने के लिए सक्षम हैं।

सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी से प्रखण्ड स्तरीय समिति द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई। इस समिति को प्रवासी मजदूरों से संबंधित आंकड़ों के संधारण करने का निदेश दिया गया।

जो भी मजदूर राँची आ रहे है उनको होम क्वारंटाइन में भेजना है साथ 550 रुपये का राशन किट भी उपलब्ध कराना है।

दुकानों के खुलने के सम्बंध में केवल 8 ग्रुप के क्रियाकलापों को अनुमति मिलेगी। अगले 2 से 3 दिन में शराब की दूकानों के खुलने के बाद वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का अक्षरशः अनुपालन करने का निर्देश दिया गया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर 108 एम्बुलेंस का बेहतर इस्तेमाल कर जरूरत मंद लोगों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराएं।

एसएसपी ने कहा कि क्वारंटाइन सेंटर की सूची सभी संबंधित थाना को उपलब्ध कराने का निदेश दिया। सभी को सतर्कता से कार्य करने का निदेश दिया गया। बॉर्डर चेक पोस्ट में अत्यधिक सतर्क रहने और सुरक्षा के दृष्टिकोण से अहम जानकारी आवश्यकतानुसार तुरन्त से साझा करने का निदेश दिया गया।

इसके अतिरिक्त मनरेगा में जो भी योजनाएं चल रही हैं, जैसे हरित ग्राम, टी सी बी इत्यादि के क्रियान्वयन को लेकर भी दिशा निदेश दिया गया।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top