Connect with us

इंडिया यंग फाउंडेशन के बीच पद्मश्री श्री मुकुंद नायक

खबर सीधे आप तक

इंडिया यंग फाउंडेशन के बीच पद्मश्री श्री मुकुंद नायक

आज इंडिया यंग फाउंडेशन के स्थानीय सर्कुलर रोड अवस्थित कार्यस्थल “पारिजात भवन” में विश्व प्रसिद्ध नृत्य-गायक कलाकार पद्मश्री श्री मुकुंद नायक एवं नंदलाल नायक का आगमन हुआ। अपने सहयोगियों के साथ उपस्थित हुए पद्मश्री मुकुंद नायक जी ने वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ने और उससे बचने के संबंध में अपने विचार व्यक्त किए तथा तमाम लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग की सलाह देते हुए उन्होंने कोरोना से संबंधित एक नागपुरी गीत सबको सुनाया, इस गीत में इस लॉक-डाउन के कारण उत्पन्न विभिन्न तरह के संकटों एवं लोगों के बीच घर और कारखानों दोनों से बेदरबार होकर सड़कों पर पैदल अपने घर वापस लौटने की तथा कृषकों व मजदूरों के बेरोजगार हो जाने एवं उनके भूखे मरने की स्थिति को इंगित किया गया था ।
श्री मुकुंद नायक जी ने यह भी बताया कि वह बरसों से ऐसे गीतों की रचना करते रहे हैं, जिसमें झारखंड-वासियों और आदिवासियों को अपने ही घर पर रहकर ,अपने ही खेतों में काम करने की सलाह दी गई है। अपनी माटी से जुड़ने और थोड़ा कम खा कर ही सही, लेकिन अपनी जगह से पलायन न करने की सलाह मुकुंद जी के गीतों में बराबर झलकती रही है ।इस प्रकार उनकी यह सलाह कोरोना न रहने के बावजूद भी न केवल झारखंड-वासियों, बल्कि समूचे देशवासियों के लिए समान रूप से कारगर है। साथ ही उनके गीतों में स्थानीय स्तर पर उत्पादन व स्वदेशी अपनाने एवं आत्मनिर्भरता प्राप्त करने पर भी बराबर जोर दिया जाता रहा है जो कि आज के संकट की मूल वजह भी है ।
इस अवसर पर पद्मश्री श्री मुकुंद नायक जी ने इस वैश्विक महामारी के दौर में तमाम तरह के खतरों के बावजूद इंडिया यंग फाउंडेशन द्वारा किए जा रहे कार्यों को सराहा एवं उसके तमाम सदस्यों के साहस की भूरी-भूरी प्रशंसा की और उन्होंने कहा कि आने वाले वक्त में वह सदैव इंडिया यंग फाउंडेशन के साथ बने रहेंगे और किसी भी प्रकार की आवश्यकता पड़ने पर उसे मदद करेंगे तथा विभिन्न अवसरों पर उनसे जो मार्गदर्शन मांगा जाएगा, वो मार्गदर्शन वे इंडिया यंग फाउंडेशन को प्रदान करेंगे । करीब एक घण्टे से ज़्यादा पारिजात भवन परिसर में बिताकर मुकुंद नायक जी अपने सहयोगियों के साथ लौट गए । इस वार्ता में इंडिया यंग फाउंडेशन के कोर सदस्यों सहित अन्य सदस्य भी उपस्थित थे ।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खबर सीधे आप तक

विज्ञापन | Advertisement

ट्रेन्डिंग् टॉपिक्स

विज्ञापन के लिए संपर्क करें: +91-8138068766

To Top